भाषण

मार्च 02, 2017
निवेशक की रुचि में सुधार लाना- हाल के विधायी और विनियामकीय उपाय- आर गांधी 222.00 kb
मार्च 01, 2017
वित्तीय प्रोद्योगिकी(फीन टैक्स) और आभाषी मुद्रा-आर गांधी 174.00 kb
फरवरी 21, 2017
बैंक की दबावग्रस्त आस्तियों का दृढ़तापूर्वक समाधान करने के कुछ तरीके- विरल वी.आचार्य 213.00 kb
फरवरी 20, 2017
भुगतान प्रणाली –अगला पड़ाव-आर गांधी 168.00 kb
एमएसएमई वित्तपोषण: बैंक और वित्तीय प्रोद्योगिकी (फिनटेक)-प्रतिस्पर्धा,सहकार्य अथवा प्रतिस्पर्धी सहकार्य ?- एस.एस.मुंदड़ा 204.00 kb
फरवरी 01, 2017
बैंकों में धोखाधड़ी का नियंत्रण: क्या करें और क्या न करें - एस.एस.मूंदड़ा 198.00 kb
जनवरी 11, 2017
भारत में आईएफएससी की कारोबारी क्षमताओं के मैक्रो एवं माइक्रो संचालक - ऊर्जित आर पटेल 166.00 kb
दिसंबर 10, 2016
भारत में बुनियादी सुविधाओं से जुड़े मुद्दे - एन एस विश्वनाथन 267.00 kb
नवंबर 24, 2016
बैंकिंग में सर्वोत्‍तम प्रथाओं का पथप्रदर्शक – भारत का रिकॉर्ड – आर. गांधी 163.00 kb
अक्टूबर 24, 2016
भारत में भुगतान प्रणाली का उद्भव : या यह एक क्रांति है? - आर. गांधी 149.00 kb
सितंबर 30, 2016
प्राथमिकताओं का सटीक निर्धारण - एस.एस.मूंदड़ा 227.00 kb
सितंबर 28, 2016
कमजोर वैश्विक परिवेश में वित्तीय स्थिरता - एस.एस.मूंदड़ा 138.00 kb
सितंबर 27, 2016
ब्रिक्स में बांड बाजार विकसित करने की चुनौतियां - आर.गांधी 190.00 kb
सितंबर 24, 2016
भारत में वित्तीय समावेशन-अब तक की यात्रा और भावी दिशा - एस.एस.मूंदड़ा 149.00 kb
सितंबर 07, 2016
सूचना प्रौद्योगिकी और बैंकिंग क्षेत्र में साइबर जोखिम-चिंता की उभरती लकीरें - एस.एस.मूंदड़ा 230.00 kb
भारतीय बैंकों की आस्ति गुणवत्ता: भावी दिशा - एन.एस.विश्वनाथन 442.00 kb
सितंबर 03, 2016
केंद्रीय बैंक की आजादी - रघुराम जी.राजन 164.00 kb
अगस्त 26, 2016
हमारे कर्ज बाजारों को मजबूती प्रदान करना - रघुराम जी राजन 189.00 kb
अगस्त 24, 2016
बैंकिंग क्षेत्र सुधार: गंतव्य नहीं, एक यात्रा है - एस.एस.मूंदड़ा 125.00 kb
अगस्त 23, 2016
एमएसएमई उधार की एबीसीडी- एस.एस.मुंदड़ा 145.00 kb
अगस्त 18, 2016
बैंकिंग के नए प्रतिमान-बैंकिंग आवश्यक है किन्तु बैंक नहीं-क्या सचमुच?- आर गांधी 132.00 kb
अगस्त 16, 2016
आज के भारत में बैंकिंग-रोचक, लाभदायक एवं चुनौतीपूर्ण - रघुराम जी राजन 167.00 kb
जुलाई 29, 2016
लक्षित आक्रमण: देश की महत्वपूर्ण मूलभूत सुविधाओं का संरक्षण और क्षमता निर्माण-आर गांधी 85.00 kb
जुलाई 26, 2016
नीति और साक्ष्य - रघुराम जी राजन 788.00 kb
जुलाई 19, 2016
सूचना प्रोद्योगिकी- बैंकों के लिए हस्त-प्राण -आर गांधी 78.00 kb
जुलाई 18, 2016
आईडीआरबीटी बैकिंग प्रौद्योगिकी उत्कृष्टता पुरस्कार: टीका - रघुराम जी राजन 89.00 kb
वित्तीय समावेशन के बदलते प्रतिमान - रघुराम जी राजन 106.00 kb
मार्च 16, 2016
वैश्विक आर्थिक संकट: भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव और आगे की राह - हारून आर खान 374.00 kb
मार्च 12, 2016
मौद्रिक गेम के नियम की ओर- रघुराम जी. राजन 96.00 kb
वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारत- रघुराम जी. राजन 231.00 kb
फरवरी 11, 2016
बैंकिंग के वर्तमान मुद्दे-रघुराम जी.राजन 89.00 kb
फरवरी 10, 2016
ग्रामीण सहकारी समितियां: स्थिति पुनर्निर्धारण- आर.गांधी 121.00 kb
फरवरी 05, 2016
भारतीय बैंकिंग क्षेत्र: भविष्य में झांकना- एस.एस.मूंदड़ा 97.00 kb
वित्तीय स्थिरता- मुद्दे और सरोकार: क्या हम सही स्थान पर लक्ष्य कर रहे हैं?- आर गांधी 95.00 kb
फरवरी 04, 2016
भारत में निर्बाँध उद्यम को मजबूत बनाना- रघुराम जी.राजन 108.00 kb
जनवरी 29, 2016
वित्तीय सुधार-कल और आज- रघुराम जी.राजन 97.00 kb
भारतीय बैकिंग क्षेत्र के लिए अनुसंधान की अनिवार्यता- एस.एस.मुंदड़ा 99.00 kb
दिसंबर 22, 2015
भुगतान क्रांति: सहभागिता की तैयारी – आर गांधी 129.00 kb
दिसंबर 21, 2015
एनबीएफसी: मध्यावधि परिदृश्य – आर गांधी 145.00 kb
नवंबर 12, 2015
अनावृत अर्थव्यवस्था-रघुराम जी.राजन 161.00 kb
नवंबर 06, 2015
भारत में कॉरपोरेट बांड मार्केट: आगामी कार्रवाई के लिए ढांचा- हारून.आर.खान 141.00 kb
अक्टूबर 31, 2015
सहिष्णुता और अर्थिक प्रगति के प्रति सम्मान – रघुराम जी.राजन 81.00 kb
अक्टूबर 28, 2015
सहकारी बैकिंग की अवस्था कैसी? - आर. गांधी 94.00 kb
अक्टूबर 06, 2015
भारतीय बैंकिंग क्षेत्र-एक विनियामकीय परिदृश्य- एस.एस.मूंदड़ा 84.00 kb
सितंबर 18, 2015
वित्तीय क्षेत्र में कायम रखने योग्य संवृद्धि- रघुराम जी.राजन 96.00 kb
सितंबर 16, 2015
भारत की संवृद्धि का वित्तपोषण- चुनौतियां और भावी दिशा- एस.एस.मूंदड़ा 89.00 kb
सितंबर 15, 2015
भारत में आस्ति पुनर्निर्माण और एनपीए प्रबंधन- आर गांधी 431.00 kb
सितंबर 09, 2015
वित्तीय ग्राहक (जमाकर्ता) का संरक्षण – कुछ चिरकालिक प्रश्नों के बारे में चिंतन – आर.गांधी 122.00 kb
अगस्त 25, 2015
परिवर्तनकारी नवोन्मेश और समावेशी वृद्दि: कुछ यादृच्छिक विचार – आर. गांधी 99.00 kb
भारत में वित्तीय बाज़ार विनियमन – अतीत एवं भावी दृष्टि– हारून आर.खान 237.00 kb

2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष