नया क्या हैं


भारत सरकार (जीओआई) की प्रतिभूतियों का रूपांतरण / स्विच
भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 की धारा 45एमएए के अंतर्गत एनबीएफसी के सांविधिक लेखा परीक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई
लघु वित्त बैंकों (एसएफ़बी) के लिए मांग पर विशेष दीर्घावधि रेपो परिचालन (एसएलटीआरओ)
भारतीय रिज़र्व बैंक ने श्रेई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड और श्रेई इक्विपमेंट फाइनेंस लिमिटेड की सलाहकार समिति को बरकरार रखा
दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता, 2016 के तहत दायर श्रेई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड और श्रेई इक्विपमेंट फाइनेंस लिमिटेड के विरुद्ध कॉर्पोरेट दिवाला समाधान प्रक्रिया आरंभ करने के लिए आवेदन
विनियामक सैंडबॉक्स (आरएस): चौथे कोहार्ट के लिए विषय की घोषणा और रूपरेखा को सक्षम करने की समीक्षा
विकासात्मक और विनियामक नीतियों पर वक्तव्य
गवर्नर का वक्तव्य : 8 अक्तूबर 2021
मौद्रिक नीति वक्तव्य, 2021-22 मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) का संकल्प 6-8 अक्टूबर 2021
मौद्रिक नीति रिपोर्ट - अक्टूबर 2021
निदेशक मंडल का अधिक्रमण और प्रशासक की नियुक्ति - श्रेई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड और श्रेई इक्विपमेंट फाइनेंस लिमिटेड
भारतीय रिज़र्व बैंक ने श्रेई इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस लिमिटेड (एसआईएफएल) और श्रेई इक्विपमेंट फाइनेंस लिमिटेड (एसईएफएल) के प्रशासक को परामर्श देने के लिए एक सलाहकार समिति की नियुक्ति की
अक्तूबर से दिसंबर 2021 तिमाही के लिए राज्य सरकारों/ केंद्र शासित प्रदेशों के बाजार उधार का सांकेतिक कैलेंडर
जून 2021 के अंत में भारत का बाह्य ऋण
अप्रैल-जून 2021 के दौरान भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में परिवर्तन के स्रोत
2021-22 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान भारत के भुगतान संतुलन की गतिविधियां
भारत की अंतरराष्ट्रीय निवेश स्थिति (आईआईपी), जून 2021
त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई ढांचा – इण्डियन ओवरसीज़ बैंक
दायित्वपूर्ण डिजिटल नवोन्मेष- मंगलवार, 28 सितंबर 2021 को श्री टी रबी शंकर, उप गवर्नर, भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा भाषण- ग्लोबल फिनटेक फेस्टिवल को संबोधन
भारत सरकार के खज़ाना बिलों का नीलामी कैलेंडर
वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी छमाही के लिए भारत सरकार की अर्थोपाय अग्रिम सीमा (अक्तूबर 2021 से मार्च 2022)
अक्तूबर 2021 – मार्च 2022 के लिए विपणन योग्य दिनांकित प्रतिभूतियों के निर्गम हेतु कैलेंडर
मास्टर निदेश – आरबीआई (ऋण एक्सपोजर का अंतरण) - (मानक आस्तियों का प्रतिभूतिकरण) निदेश, 2021
रिज़र्व बैंक ने जी-सेक अभिग्रहण कार्यक्रम (जी-एसएपी 2.0) के अंतर्गत भारत सरकार की प्रतिभूतियों की खुला बाजार खरीद के साथ-साथ भारत सरकार की प्रतिभूतियों की बिक्री की घोषणा की
कोविड के बाद: एक मजबूत, समावेशी और टिकाऊ अर्थव्यवस्था की ओर - श्री शक्तिकांत दास, गवर्नर, भारतीय रिजर्व बैंक- द्वारा 22 सितंबर 2021, बुधवार को ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (AIMA) के 48 वें राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन में दिया गया मुख्य भाषण
मौद्रिक नीति: महामारी द्वारा परीक्षण- डॉ माइकल देवव्रत पात्र, उप गवर्नर ,भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 16 सितंबर 2021 को भारतीय उद्योग परिसंघ के वित्तीय बाजार शिखर सम्मेलन, मुंबई में किया गया संबोधन
खाता संग्रहक के लिए नियामक ढांचा - आईस्पिरिट द्वारा 2 सितंबर 2021 को आयोजित आभासी कार्यक्रम के दौरान- श्री एम. राजेश्वर राव, उप गवर्नर की टिप्पणियाँ
मास्टर निदेश - भारतीय रिजर्व बैंक (ओटीसी डेरिवेटिव में बाजार -निर्माता) निदेश, 2021
रिज़र्व बैंक ने जी-सेक अभिग्रहण कार्यक्रम (जी-एसएपी 2.0) के अंतर्गत भारत सरकार की प्रतिभूतियों की खुला बाजार खरीद के साथ-साथ भारत सरकार की प्रतिभूतियों की बिक्री की घोषणा की
सुरक्षित रखने पर ध्यान दें (Heed to Heal) - जलवायु परिवर्तन उभरता वित्तीय जोखिम है (16 सितंबर 2021, गुरुवार को हरित और सतत वित्त पर CAFRAL आभासी सम्मेलन में श्री एम. राजेश्वर राव, उप गवर्नर, भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा दिया गया मुख्य भाषण)

Server 214
शीर्ष