मौद्रिक नीति

आर्थिक नीति के अंतिम उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए मौद्रिक नीति केंद्रीय बैंक के नियंत्रण में ब्याज दरों, मुद्रा आपूर्ति और ऋण की उपलब्धता जैसे परिमाणों को विनियमित करने के लिए मौद्रिक साधनों के उपयोग को सूचित करती।

भाषण


मार्च 19, 2019
राजकोषीय संघवाद (फेडरलिजम) पर कुछ विचार - शक्तिकांत दास 165.00 kb
अक्टूबर 26, 2018
स्वतंत्र विनियामकीय संस्थाओं का महत्व – केंद्रीय बैंक का मामला - डॉ. विरल वी. आचार्य, उप गवर्नर, भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा मुंबई में 26 अक्तूबर 2018 को दिया गया ए. डी. श्रॉफ स्मारक व्याख्यान 319.00 kb
नवंबर 20, 2017
भारत की मौद्रिक नीति समिति के कार्यकाल का एक वर्ष-माइकल देबब्रत पात्र 260.00 kb
नवंबर 16, 2017
भारत में मौद्रिक नीति का संचरण: यह क्यों महत्वपूर्ण है और इसने ठीक से काम क्यों नहीं किया- विरल वी. आचार्य 330.00 kb
सितंबर 28, 2016
कमजोर वैश्विक परिवेश में वित्तीय स्थिरता - एस.एस.मूंदड़ा 138.00 kb
जून 20, 2016
महंगाई के विरुद्ध संघर्ष : हमारे संस्थागत विकास का उपाय - रघुराम जी राजन 97.00 kb
अप्रैल 20, 2016
शब्द महत्वपूर्ण है क्या उनके आशय वहीं है- रघुराम जी राजन 105.00 kb
मार्च 12, 2016
मौद्रिक गेम के नियम की ओर- रघुराम जी. राजन 96.00 kb
मई 19, 2015
विकास के लिए आक्रामकता - रघुराम जी.राजन 487.00 kb
मार्च 17, 2015
अपंरपरागत मौद्रिक नीति से फैलने वाले प्रभाव - उभरते बाज़ारों के लिए सबक - क्रिस्टीन लैगार्ड 92.00 kb
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष