वित्तीय समावेशन और विकास

यह कार्य वित्तीय समावेशन, वित्तीय शिक्षण को बढ़ावा देने और ग्रामीण तथा एमएसएमई क्षेत्र सहित अर्थव्यवस्था के उत्पादक क्षेत्रों के लिए ऋण उपलब्ध कराने पर नवीकृत राष्ट्रीय ध्यानकेंद्रण का सार संक्षेप में प्रस्तुत करता है।

प्रेस प्रकाशनी


वित्तीय साक्षरता सप्ताह 2019

31 मई 2019

वित्तीय साक्षरता सप्ताह 2019

वित्तीय साक्षरता सप्ताह भारतीय रिज़र्व बैंक की एक ऐसी पहल है जिसमें प्रति वर्ष केंद्रीकृत अभियान के माध्यम से प्रमुख विषयों पर जागरूकता को बढ़ावा दिया जाता है। वित्तीय साक्षरता सप्ताह 2019 "किसान" थीम के साथ 3 से 7 जून तक मनाया जाएगा जिसमें किसानों को औपचारिक बैंकिंग प्रणाली का एक हिस्सा बन जाने पर उन्हें मिलने वाली सुविधाओं के बारे में बताया जाएगा।

समग्र आर्थिक विकास के लिए कृषि में विकास होना आवश्यक है और इस प्रयोजन हेतु वित्त एक अत्यावश्यक साधन है। रिज़र्व बैंक सक्रिय रूप से ऐसी नीतियां बनाने में शामिल रहा है जो कृषक समुदाय के लिए ऋण के प्रवाह को बढ़ाए। हाल के वर्षों में, बैंक ने ऋण वितरण प्रणाली और वित्तीय समावेशन को मजबूत करने के लिए कई पहल की हैं।

कृषक समुदाय में वित्तीय साक्षरता संदेशों के प्रसार और जागरूकता फैलाने के लिए, पोस्टर और लीफलेट के रूप में प्रचार-प्रसार हेतु केंद्रित सामग्री तैयार की गई है। बैंकों को सूचित किया गया है कि वे अपनी ग्रामीण बैंक शाखाओं, वित्तीय साक्षरता केंद्र, एटीएम और वेबसाइटों पर पोस्टरों और सामग्री को प्रदर्शित करें। इसके अतिरिक्त, रिज़र्व बैंक किसानों के लिए आवश्यक वित्तीय जागरूकता संदेशों को प्रसारित करने हेतु दूरदर्शन और ऑल इंडिया रेडियो पर जून के महीने में एक केंद्रीकृत जन मीडिया अभियान चलाएगा।

यह रिज़र्व बैंक द्वारा किया जा रहा कृषक समुदाय तक पहुँचने का एक प्रयास है और सभी हितधारकों से अनुरोध है कि वे सहयोग करें तथा इस वित्तीय साक्षरता अभियान को सफल बनायें।

योगेश दयाल
मुख्य महाप्रबंधक

प्रेस प्रकाशनी: 2018-2019/2816

2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष