प्रेस प्रकाशनी

महात्मा गांधी (नई) श्रृंखला बैंकनोट के वितरण – एटीएमों के पुनःमापांकन (रिकैलीब्रेशन) और पुनःसक्रियकरण के लिए कार्यदल का गठन

14 नवंबर 2016

महात्मा गांधी (नई) श्रृंखला बैंकनोट के वितरण – एटीएमों के पुनःमापांकन (रिकैलीब्रेशन)
और पुनःसक्रियकरण के लिए कार्यदल का गठन

नए डिज़ाइन में नए उच्च मूल्यवर्ग ( 2000) सहित महात्मा गांधी (नई) श्रृंखला बैंकनोटों के शुरू होने से नए डिज़ाइन के नोटों को वितरित करने के लिए सभी एटीएमों/नकदी हैंडलिंग मशीनों का पुनःमापांकन (रिकैलीब्रेशन) करना जरूरी हो गया है।

2. एटीएम जनता की मुद्रा अपेक्षाओं को पूरा करने में मुख्य भूमिका निभाते हैं और नकदी के संवितरण का प्रमुख चैनल बन गए हैं। एटीएमों के पुनःसक्रियकरण से बैंकों के ग्राहकों के लिए उच्चतर और कम मूल्यवर्ग के नोटों के सही मिश्रण के साथ सुविधाजनक समय और स्थान पर नोटों की उपलब्धता और संवितरण की सुविधा दी गई है।

3. एटीएमों के पुनःमापांकन में बहु-एजेंसियां जैसे बैंक, एटीएम विनिर्माता, भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई), स्विच ऑपरेटर आदि शामिल हैं तथा बहु गतिविधियां शामिल हैं जो इसे एक जटिल कार्य बनाती है जिसमें इन एजेंसियों के बीच काफी अधिक समन्वय की आवश्यकता है।

4. इस संबंध में दिशानिर्देश और मार्गदर्शन प्रदान करने की दृष्टि से यह निर्णय लिया गया है कि श्री एस.एस. मूंदड़ा, उप गवर्नर, भारतीय रिज़र्व बैंक की अध्यक्षता में एक कार्यदल का गठन किया जाए। इस कार्यदल में निम्नलिखित शामिल होंगेः

  1. भारत सरकार, वित्त मंत्रालय, आर्थिक कार्य विभाग के प्रतिनिधि, सदस्य

  2. भारत सरकार, वित्त मंत्रालय, वित्तीय सेवा विभाग के प्रतिनिधि, सदस्य

  3. भारत सरकार, गृह मंत्रालय के प्रतिनिधि, सदस्य

  4. सबसे अधिक एटीएम नेटवर्क वाले चार बैंक जैसे भारतीय स्टेट बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक के प्रतिनिधि, सदस्य

  5. एनपीसीआई के प्रतिनिधि, सदस्य

  6. मुख्य महाप्रबंधक, मुद्रा प्रबंध विभाग, सदस्य

  7. मुख्य महाप्रबंधक, भुगतान और निपटान प्रणाली विभाग सदस्य सचिव के रूप में

5. एटीएम कार्यालय उपस्कर विनिर्माताओं (ओईएम), प्रबंधित सेवा प्रदाताओं, मार्गस्थ नकदी कंपनियों और व्हाइट लेबल एटीएम (डब्ल्यूएलए) ऑपरेटरों में से एक प्रतिनिधि को कार्यदल की चर्चाओं में आमंत्रित किया जाएगा। आवश्यकतानुसार कार्यदल अन्यों को भी आमंत्रित कर सकता है।

6. कार्यदल के विचारार्थ विषय निम्नानुसार हैं :

  1. योजनाबद्ध तरीके में सभी एटीएमों का तीव्र पुनःसक्रियकरण।

  2. उपर्युक्त से संबंधित कोई अन्य मामला।

7. डीपीएसएस, केंद्रीय कार्यालय सचिवीय सहायता प्रदान करेगा।

अल्पना किल्लावाला
प्रधान परामर्शदाता

प्रेस प्रकाशनी : 2016-2017/1197


2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष