प्रेस प्रकाशनी

भारतीय रिजर्व बैंक के कृषि बैंकिेग महाविद्यालय द्वारा एमएसएमई उधार पर वृत्‍त (केस) लेखन प्रतियोगिता का आयोजन

11 जनवरी 2016

भारतीय रिजर्व बैंक के कृषि बैंकिेग महाविद्यालय द्वारा
एमएसएमई उधार पर वृत्‍त (केस) लेखन प्रतियोगिता का आयोजन

भारतीय रिजर्व बैंक के कृषि बैंकिंग महाविद्यालय (सीएबी), पुणे, द्वारा बैंकरों के लिए एक वृत्‍त (केस) लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता का विषय है ‘केस स्‍टडी : एमएसएमई उधारकर्ता को नवोन्‍मेषी तरीके से उधार’। प्रतियोगिता के आयोजन का उद्देश्‍य है बैंकरों को ऐसे वृत्‍त-अध्ययन प्रस्‍तुत करने के लिए प्रोत्साहित करना जहां सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) उधारकर्ताओं का नवोन्‍मेषी तरीके से वित्तपोषण किया गया हो और जो अन्य बैंकरों को संवेदनशील बनाने की क्षमता रखते हों।

अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों की प्रशिक्षण स्‍थापनाओं के संकाय सदस्यों सहित बैंकों के स्टाफ सदस्य, भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी), क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी), राज्य सहकारी बैंकों और शहरी सहकारी बैंकों के प्रशिक्षण स्‍थापनाओं के संकाय सदस्यों सहित बैंकों के स्टाफ सदस्य, और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के स्टाफ सदस्य इस प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं।

प्रतियोगी विधिवत भरे हुए आवेदन-सह-घोषणा पत्र के साथ-साथ पीडीएफ प्रारूप में अंग्रेजी/हिंदी में वृत्‍त अध्ययन ईमेल द्वारा प्रस्तुत कर सकते हैं। आवेदन प्रस्‍तुत करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2016 है।

विजेताओं को प्रमाण पत्र के साथ 20,000 (प्रथम पुरस्कार), 15,000 (द्वितीय पुरस्कार) और 10,000 (तृतीय पुरस्कार) के नकद पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। कृषि बैंकिंग महाविद्यालय (सीएबी) की वेबसाइट http://cab.org.in पर प्रतियोगिता के विवरण उपलब्ध हैं।

पृष्ठभूमि

एमएसएमई देश की अर्थव्यवस्था में अहम भूमिका निभाते हैं और इस क्षेत्र का ध्यान से वित्‍तपोषण और समर्थन करने की जरूरत है जिसका प्रतिरोध नहीं किया जा सकता । एमएसएमई क्षेत्र का वित्‍तपोषण करने के लिए बैंकों को ऐसे सक्षम पदाधिकारियों की जरूरत है जो उद्यमियों की जुड़वां आवश्यकताओं - पर्याप्तता और समयबद्धता को पूरा करने के लिए उद्यमों के प्रति संवेदनशील हों। मजबूत एमएसएमई पोर्टफोलियो निर्माण की प्रक्रियाओं के साथ नवोन्‍मेषी उधारकर्ताओं के चयन की प्रथाओं की इस समय आवश्‍यकता है। परीक्षा के इस क्षण में बैंक के दायरे और इसकी मानक प्रक्रियाओं के भीतर सीमित रहना काफी अपर्याप्‍त होने की संभावना है। इस पृष्‍ठभूमि में, कृषि बैंकिंग महाविद्यालय (सीएबी), भारतीय रिज़र्व बैंक, पुणे, ने बैंकरों के बीच इस वृत्त लेखन प्रतियोगिता का आयोजन करने का निर्णय लिया है।

अजीत प्रसाद
सहायक परामर्शदाता

प्रेस प्रकाशनी: 2015-2016/1621


2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष