अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

सीआरआर में छूट

(सं: परिपत्र डीओआर.सं.आरईटी.बीसी.30/12.01.001/2019-20, दिनांक 10 फरवरी, 2020)

6 फरवरी, 2020 के विकासात्मक और विनियामकीय नीतियों पर वक्तव्य में की गई घोषणा के उपरांत, भारतीय रिज़र्व बैंक ने 10 फरवरी 2020 को परिपत्र जारी कर बैंकों को सूचित किया कि 31 जनवरी 2020 से शुरू होने वाले पखवाड़े से लेकर 31 जुलाई 2020 को समाप्त होने वाले पखवाड़े तक बकाया वृद्धिशील ऋण, ऋण आरंभ होने की तिथि से पाँच वर्ष की अवधि या ऋण की समयावधि के लिए, जो भी पहले हो, सीआरआर की गणना के प्रयोजन से एनडीटीएल से घटाए जाने के लिए पात्र होगा। कुछ बैंकों ने वृद्धिशील ऋण की गणना और छूट के लिए पात्र क्षेत्र जैसे मुद्दों पर स्पष्टीकरण मांगा है। सर्वप्रथम यह स्पष्ट किया जाता है छूट तीन क्षेत्रों (ऑटोमोबाइल,रिहायशी आवास और एमएसएमई को ऋण) को दिए गए समतुल्य वृद्धिशील ऋण पर उपलब्ध है, जो 31 जनवरी 2020 की स्थिति के अनुसार और इसके बाद 31 जुलाई 2020 तक के पखवाड़ों में इन क्षेत्रों के बकाया ऋण का अंतर पर आधारित होगा। उठाए गए प्रमुख प्रश्न और हमारे उत्तर निम्नलिखित है:

क्रम सं प्रश्न स्पष्टीकरण
1. वृद्धिशील ऋण की समतुल्य राशि जिसे सीआरआर के प्रयोजन से एनडीटीएल से घटाया/ छूट प्राप्त की जा सकती है, की गणना कैसे की जाए? रिपोर्टिंग शुक्रवार 14 फरवरी 2020 से शुरू होकर रिपोर्टिंग शुक्रवार 31 जुलाई 2020 तक प्रत्येक रिपोर्टिंग शुक्रवार की स्थिति के अनुसार ऑटोमोबाइल,रिहायशी आवास और एमएसएमई को ऋण में से बकाया खुदरा ऋण को, संबंधित क्षेत्रों के 31 जनवरी 2020 की स्थिति के अनुसार बकाया ऋण से घटाया जाएगा। यदि बकाया ऋण में से अंतर धनात्मक है, तो सीआरआर बनाए रखने के प्रयोजन से इस अंतर की समतुल्य राशि एनडीटीएल से घटाई जाएगी। यदि किसी विनिर्दिष्ट क्षेत्र को दिए गए ऋण में अंतर ऋणात्मक है, तो इसे नजरअंदाज किया जाए। वृद्धिशील ऋण की गणना क्षेत्र वार की जाएगी। (अनुबंध 1 में उदाहरण देखें)।
2. क्या “व्यापार प्राप्तियाँ डिस्काउंटिंग सिस्टम (ट्रेड्स)” के अंतर्गत डिस्काउंट की गई एमएसएमई की फैक्टरिंग इकाइयां भी छूट/ कटौती के लिए पात्र होंगी? हां
3. ऐसी छूट/कटौती की अनुमति कब तक के लिए है? 31 जुलाई 2020 की स्थिति के अनुसार वृद्धिशील ऋण ( 31 जनवरी 2020 की स्थिति के अनुसार बकाया ऋण से) पुनर्भुगतान और एनपीए की सीमा तक घटाया जाएगा और वृद्धिशील ऋण की निवल राशि एनडीटीएल से कटौती के लाभ के लिए, अधिकतम 5 वर्ष की अवधि अर्थात 24 जनवरी 2025 को समाप्त होने वाले पखवाड़े अथवा ऋण की समयावधि, जो भी कम हो, तक के लिए पात्र होगी।
4. आरबीआई द्वारा लेखा परीक्षा के प्रयोजन से कोई विशिष्ट फ़ारमैट रखा जाना है? नहीं। बैंकों द्वारा रखी गई सूचना पर्यवेक्षी सत्यापन के लिए सक्षम हो।

अनुबंध 1

बकाया ऋण (करोड़ रुपए में) ऑटोमोबाइल के लिए खुदरा ऋण रिहायशी आवास के लिए खुदरा ऋण एमएसएमई को ऋण
A. 31 जनवरी 2020 के अनुसार 150 120 130
B. 14 फरवरी 2020 को रिपोर्टिंग शुक्रवार के अनुसार 180 110 150
C. 31 जुलाई 2020 को रिपोर्टिंग शुक्रवार के अनुसार 500 480 110
स्थिति 1
14 फरवरी 2020 को रिपोर्टिंग शुक्रवार को वृद्धिशील ऋण (ख – क)
30 (-)10 20
स्थिति 2
31 जुलाई 2020 को रिपोर्टिंग शुक्रवार को वृद्धिशील ऋण (ग– क)
350 360 (-)20
स्थिति 3 (माना कि 2 वर्ष बाद)      
D. वृद्धिशील ऋण (31 जुलाई 2020 के समान) 350 360 (-)20
E. पुनर्भुगतान 50 60 50
F. वृद्धिशील ऋण के लिए एनपीए 40 10 10
वृद्धिशील ऋण (घ- ङ-च) 350-50-40=260 360-60-10=290 (-)20-50-10= (-)80

स्थिति 1 में, 14 फरवरी 2020 के एनडीटीएल से कटौती के लिए पात्र विनिर्दिष्ट क्षेत्रों को वृद्धिशील ऋण रु. 50 करोड़ होगा (रु. 30 करोड़ ऑटोमोबाइल के लिए खुदरा ऋण + रु. 20 करोड़ एमएसएमई को ऋण)। रिहायशी आवास के लिए खुदरा ऋण के रु. 10 करोड़ के ऋणात्मक अंतर को नजरअंदाज किया जाना चाहिए।

स्थिति 2 में, 31 जुलाई 2020 के एनडीटीएल से कटौती के लिए पात्र विनिर्दिष्ट क्षेत्रों को वृद्धिशील ऋण रु. 710 करोड़ होगा (रु. 350 करोड़ ऑटोमोबाइल के लिए खुदरा ऋण + रु. 360 करोड़ रिहायशी आवास के लिए खुदरा ऋण)। एमएसएमई को ऋण में रु. 20 करोड़ के ऋणात्मक अंतर को नजरअंदाज किया जाना चाहिए।

स्थिति 3 में, एनडीटीएल से कटौती के लिए पात्र विनिर्दिष्ट क्षेत्रों को कुल वृद्धिशील ऋण रु. 550 करोड़ होगा (रु. 260 करोड़ ऑटोमोबाइल के लिए खुदरा ऋण + रु. 290 करोड़ रिहायशी आवास के लिए खुदरा ऋण)। एमएसएमई को ऋण में रु. 80 करोड़ के ऋणात्मक अंतर को नजरअंदाज किया जाना चाहिए।


2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष