डॉ. रवीन्द्र एच. धोलकिया
Dr Ravindra H. Dholakia

डॉ. रवीन्द्र एच. धोलकिया के पास आईआईएम अहमदाबाद (1985 से 2018); एम. एस. यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ौदा (1980-1985); और एसपीआईईएसआर अहमदाबाद (1977-80) में लगभग 45 वर्षों का शिक्षण, अनुसंधान, प्रशिक्षण और परामर्श का अनुभव है। उनकी अनुसंधान रुचि के क्षेत्र समष्टि आर्थिक नीतियां; कृषि, शहरीकरण, श्रम, उत्पादकता, स्वास्थ्य और शिक्षा सहित वृद्धि और विकास; राष्ट्रीय और उप-राष्ट्रीय लेखे हैं। उन्हें भारत में उच्‍चाधिकार-प्राप्‍त नीति निर्धारक और मूल्यांकन निकायों में काम करने का काफी व्यावहारिक अनुभव है जैसे कि भारत की पहली मौद्रिक नीति समिति के सदस्य, जो नीतिगत दरों को निर्धारित करती है (2016-20); भारत में 10 मिलियन से अधिक कर्मचारियों के वेतन और पेंशन में संशोधन का निर्णय लेने वाले छठे केंद्रीय वेतन आयोग (2006-08) के सदस्य; सीएजी की 10वीं सलाहकार बोर्ड (2021-23) की उच्च स्तरीय समितियों के सदस्य, बैंक उधारकर्ताओं को राहत के आकलन (2020), भारत में डाक नेटवर्क के उपयोग (2014), एयर इंडिया के लिए वेतन युक्तिकरण और पुनर्रचना (मई 2011- मार्च 2012), लोक व्यय प्रबंधन (2009-10), और बचत और निवेश अनुमान (2008-09) पर भारत सरकार द्वारा नियुक्त समितियों में सदस्य के रूप में सहायता प्रदान करना। उन्होंने गुजरात सरकार द्वारा नियुक्त, कोविड-19 महामारी के बाद राज्य की अर्थव्यवस्था में राजकोषीय पुनर्रचना (2020), राज्य की सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों की पुनर्रचना (2004-08) सहित आर्थिक पुनरुद्धार उपायों पर विशेषज्ञ समिति, लोक ऋण प्रबंधन समिति (2005-06), और राज्य लोक वित्त सुधार समिति (1998 - 2000) के सदस्य के रूप में भी काम किया। डॉ. धोलकिया ने सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा वित्तीय क्षेत्र सांख्यिकी (2016-18), उप-राष्ट्रीय लेखा (2018-20) पर, और नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा एयर इंडिया में लागत बचत और संसाधन उपयोग अनुकूलन (2013) पर नियुक्त समितियों की अध्यक्षता की है। उन्होंने भारत में निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में कई परामर्श कार्य किए हैं और डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ, विश्व बैंक, यूएनडीपी, हेवलेट फाउंडेशन, संयुक्त राष्ट्र, संयुक्त राष्ट्र-मंगोलिया, आदि जैसे अंतरराष्ट्रीय संगठनों के लिए काम किया है। उन्होंने 49 मोनोग्राफ, 23 पुस्तकें, और राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्‍त पत्रिकाओं में प्रकाशित 140 से अधिक शोध पत्र लिखे हैं और 41 छात्रों को डॉक्टरेट की उपाधि के लिए सफलतापूर्वक निर्देशित किया है। डॉ. धोलकिया ने गुजरात स्टेट फाइनेंशियल सर्विसेज, नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव एक्सचेंज, विद्युत वित्‍त निगम, राज्‍य व्‍यापार निगम, एयर इंडिया, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, अदानी पोर्ट्स और विशेष आर्थिक क्षेत्र, अदानी एंटरप्राइजेज, अदानी ट्रांसमिशन, गुजरात राज्‍य पेट्रोलियम निगम, गुजरात राज्‍य उर्वरक और रसायन, गुजरात उद्योग विद्युत कंपनी, आदि के बोर्ड में एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में कार्य किया है।


Server 214
शीर्ष