बैंकिंग प्रणाली का विनियामक

बैंक राष्‍ट्रीय वित्‍तीय प्रणाली की नींव होते हैं। बैंकिंग प्रणाली की सुरक्षा एवं सुदृढता को सुनिश्चित करने और वित्‍तीय स्थिरता को बनाए रखने तथा इस प्रणाली के प्रति जनता में विश्‍वास जगाने में केंद्रीय बैंक महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

अधिसूचनाएं


जनवरी 22, 2020
विधिविरुद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम (यूएपीए),1967 की धारा 51-ए का कार्यान्वयन - आईएसआईएल (दाएश) और अल-कायदा प्रतिबंध सूची का अद्यतनीकरण
दिसंबर 31, 2019
थर्ड पार्टी एटीएम स्विच एप्लिकेशन सेवा प्रदाताओं के लिए साईबर सुरक्षा नियंत्रण
दिसंबर 23, 2019
आईएफ़एससी बैंकिंग इकाइयों (आईबीयू) की स्थापना – अनुमत गतिविधियां
नवंबर 28, 2019
भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 की दूसरी अनुसूची से “विजया बैंक” और “देना बैंक” को हटाना और बैंकिंग कंपनी के रूप में समाप्ति
नवंबर 18, 2019
आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक लिमिटेड का परिसमापन
नवंबर 04, 2019
पूर्णकालि‍क नि‍देशक/ मुख्य कार्यपालक अधि‍कारी/महत्त्वपूर्ण जोखि‍म लेने वाले और नि‍यंत्रण का कार्य करने वाले स्टाफ आदि‍ के पारि‍श्रमि‍क के संबंध में दि‍शानि‍र्देश
नवंबर 01, 2019
आरआरबी के लिए विनियामक पूंजी बढ़ाने हेतु अतिरिक्त लिखतों को जारी करना
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष