वित्तीय समावेशन और विकास

यह कार्य वित्तीय समावेशन, वित्तीय शिक्षण को बढ़ावा देने और ग्रामीण तथा एमएसएमई क्षेत्र सहित अर्थव्यवस्था के उत्पादक क्षेत्रों के लिए ऋण उपलब्ध कराने पर नवीकृत राष्ट्रीय ध्यानकेंद्रण का सार संक्षेप में प्रस्तुत करता है।

अधिसूचनाएं


प्राथमिकता-प्राप्त क्षेत्र संबंधी लक्ष्य : गैर कॉर्पोरेट किसानों को उधार – वित्तीय वर्ष 2019-20

भारिबैं/2019-20/63
विसविवि.केंका.प्‍लान.बीसी.11/04.09.01/2019-20

19 सितंबर, 2019

अध्यक्ष/ प्रबंध निदेशक
मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी
(क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, लघु वित्त बैंकों और 20 से अधिक की शाखाओं वाले विदेशी बैंकों सहित सभी
अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक)

महोदय / महोदया,

प्राथमिकता-प्राप्त क्षेत्र संबंधी लक्ष्य : गैर कॉर्पोरेट किसानों को उधार – वित्तीय वर्ष 2019-20

कृपया दिनांक 16 जुलाई 2015 के हमारे परिपत्र सं.विसविवि.केंका.प्लान.बीसी.08/04.09.01/2015-16 का संदर्भ ग्रहण करें जिसके द्वारा अन्य बातों के साथ-साथ यह सूचित किया गया था कि गैर कॉर्पोरेट किसानों को समग्र प्रत्‍यक्ष उधार से संबंधित पिछले तीन वर्ष की उपलब्धि का प्रणालीगत औसत प्रति वर्ष अधिसूचित किया जाएगा।

2. इस संबंध में, हम सूचित करते हैं कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए प्राथमिकता-प्राप्त क्षेत्र को उधार के अंतर्गत उपलब्धि की गणना हेतु लागू प्रणालीगत औसत की संख्या 12.11 प्रतिशत है।

भवदीय,

(गौतम प्रसाद बोरा)
प्रभारी मुख्य महाप्रबंधक

2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष