मुद्रा निर्गमकर्ता

रिज़र्व बैंक देश का मुख्य नोट निर्गमकर्ता प्राधिकारी है। भारत सरकार के साथ हम स्वच्छ और असली नोटों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लक्ष्य के साथ राष्ट्र की मुद्रा के डिज़ाइन, उत्पादन और समग्र प्रबंध के लिए उत्तरदायी हैं।

प्रेस प्रकाशनी


(289 kb )
रिज़र्व बैंक ने जनता को पुराने बैंक नोटों और सिक्कों की खरीद-बिक्री के फर्जी प्रस्तावों का शिकार न होने के लिए आगाह किया

04 अगस्त 2021

रिज़र्व बैंक ने जनता को पुराने बैंक नोटों और सिक्कों की खरीद-बिक्री के फर्जी प्रस्तावों का शिकार न होने के
लिए आगाह किया

भारतीय रिज़र्व बैंक के संज्ञान में आया है कि कुछ तत्व धोखाधड़ी से विभिन्न ऑनलाइन / ऑफलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से पुराने बैंक नोटों और सिक्कों की खरीद और बिक्री से संबंधित लेनदेन में जनता से शुल्क/कमीशन/कर की मांग कर रहे हैं और भारतीय रिज़र्व बैंक का नाम/लोगो का उपयोग कर रहे हैं।

यह स्पष्ट किया जाता है कि भारतीय रिज़र्व बैंक ऐसे मामलों का कार्य नहीं करता है और कभी भी किसी प्रकार का शुल्क/कमीशन की मांग नहीं करता है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने भी अपनी ओर से इस तरह के लेनदेन में शुल्क/कमीशन लेने के लिए किसी संस्था/फर्म/व्यक्ति इत्यादि को अधिकृत नहीं किया है।

भारतीय रिज़र्व बैंक जनता को सतर्क रहने के लिए सूचित करता है और भारतीय रिज़र्व बैंक के नाम का उपयोग करने वाले ऐसे फर्जी/धोखाधड़ी प्रस्तावों के माध्यम से धन निकालने वाले तत्वों का शिकार न बनें।

(योगेश दयाल) 
मुख्य महाप्रबंधक

प्रेस प्रकाशनी: 2021-2022/634

2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष