बैंकिंग प्रणाली का विनियामक

बैंक राष्‍ट्रीय वित्‍तीय प्रणाली की नींव होते हैं। बैंकिंग प्रणाली की सुरक्षा एवं सुदृढता को सुनिश्चित करने और वित्‍तीय स्थिरता को बनाए रखने तथा इस प्रणाली के प्रति जनता में विश्‍वास जगाने में केंद्रीय बैंक महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

अधिसूचनाएं


बैंक दर में परिवर्तन

भारिबैं/2018-19/199
बैंविवि.सं.आरईटी.बीसी.44/12.01.001/2018-19

06 जून 2019

अध्यक्ष / मुख्य कार्यकारी अधिकारी,
सभी अनुसूचित तथा गैर-अनुसूचित बैंक

महोदय/महोदया,

बैंक दर में परिवर्तन

कृपया उपर्युक्‍त विषय पर 04 अप्रैल 2019 का हमारा परिपत्र बैंविवि. सं.आरईटी.बीसी.33/12.01.001/2018-19 देखें।

2. 06 जून 2019 के दूसरे द्वि-मासिक मौद्रिक नीति वक्तव्य, 2019-20 में की गयी घोषणा के अनुसार, तत्काल प्रभाव से बैंक दर को संशोधित कर 6.25 प्रतिशत से 25 आधार अंक घटा कर 6.00 प्रतिशत कर दिया गया है।

3. रिज़र्व अपेक्षाओं की पूर्ति में कमी होने पर सभी प्रकार की दंडात्मक ब्याज दरें भी, जो विनिर्दिष्ट रूप से बैंक दर से जुड़ी हुई हैं, अनुबंध में दर्शाये गये अनुसार संशोधित हो गयी हैं।

भवदीय

(श्रीमोहन यादव)
मुख्य महाप्रबंधक

अनुलग्नक : यथोक्त


अनुबंध

बैंक दर से जुड़ी हुई दंडात्मक ब्याज दरें

मद मौजूदा दर संशोधित दर
(तत्काल प्रभाव से)
रिज़र्व अपेक्षाओं की पूर्ति में कमी होने पर दंडात्मक ब्याज दरें (कमी की अवधि पर आधारित)। बैंक दर तथा 3.0 प्रतिशत अंक (9.25 प्रतिशत) अथवा बैंक दर तथा 5.0 प्रतिशत अंक (11.25 प्रतिशत)। बैंक दर तथा 3.0 प्रतिशत अंक (9.00 प्रतिशत) अथवा बैंक दर तथा 5.0 प्रतिशत अंक (11.00 प्रतिशत)।
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष