प्रेस प्रकाशनी

(267 kb )
इंटर-ऑपरेबल विनियामक सैंडबॉक्स के लिए मानक परिचालन प्रक्रिया

12 अक्तूबर 2022

इंटर-ऑपरेबल विनियामक सैंडबॉक्स के लिए मानक परिचालन प्रक्रिया

वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद - उप समिति (एफएसडीसी-एससी) के तत्वावधान में फिनटेक पर एक अंतर-विनियामक तकनीकी समूह (फिनटेक पर आईआरटीजी) का गठन किया गया था। फिनटेक पर आईआरटीजी के विचारार्थ विषयों (टीओआर) में विनियामक सैंडबॉक्स (आरएस) में प्रवेश के लिए विभिन्न वित्तीय क्षेत्र विनियामकों के विनियामक दायरे में आने वाले संकर उत्पाद/ सेवा से संबंधित मुद्दों पर चर्चा और संकर उत्पादों/ सेवाओं के लिए इंटर-ऑपरेबल विनियामक सैंडबॉक्स (आईओआरएस) हेतु मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) तैयार करना शामिल है। समूह में, वित्तीय क्षेत्र विनियामकों के सदस्यों के अलावा, आर्थिक कार्य विभाग (डीईए), वित्त मंत्रालय और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई), भारत सरकार के प्रतिनिधि शामिल हैं।

2. एक से अधिक वित्तीय क्षेत्र विनियामकों अर्थात आरबीआई, सेबी, आईआरडीएआई, आईएफ़एससीए और पीएफ़आरडीए के विनियामक दायरे में आने वाले नवीन उत्पादों/ सेवाओं के परीक्षण की सुविधा हेतु आईओआरएस के लिए एक मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) फिनटेक पर अंतर-विनियामक तकनीकी समूह (फिनटेक पर आईआरटीजी) द्वारा तैयार की गई है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने आज अपनी वेबसाइट पर आईओआरएस के लिए एसओपी को रखा है।

3. आईओआरएस में भाग लेने के लिए सामान्य आवेदन पत्र संलग्न है। प्रधान विनियामक (एसओपी में परिभाषित) के आरएस में भाग लेने के लिए न्यूनतम पात्रता मानदंड को पूरा करने वाली संस्थाएं, आवश्यक दस्तावेजों के साथ ईमेल के माध्यम से आवेदन कर सकती हैं (अधिकतम आकार 10 एमबी)। अतिरिक्त जानकारी और/या दस्तावेज, जब आवश्यक हो, आवेदक को प्रस्तुत करना होगा। प्रधान विनियामक/ सहयोगी विनियामक अपने आरएस ढांचे के अनुसार संकर उत्पाद/ समाधान/ नवोन्मेष की स्वीकार्यता पर अधिकार सुरक्षित रखेंगे।

(योगेश दयाल) 
मुख्य महाप्रबंधक

प्रेस प्रकाशनी: 2022-2023/1030


2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष