प्रेस प्रकाशनी

वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही के दौरान निजी कॉर्पोरेट कारोबार क्षेत्र का कार्यनिष्पादन

19 मार्च, 2020

वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही के दौरान निजी कॉर्पोरेट कारोबार क्षेत्र का कार्यनिष्पादन

रिज़र्व बैंक ने वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही के दौरान निजी कॉर्पोरेट क्षेत्र के कार्यनिष्पादन से संबंधित आंकड़े आज जारी किए जो 2,702 सूचीबद्ध गैर-सरकारी गैर-वित्तीय (एनजीएनफ) कंपनियों के संक्षिप्त वित्तीय परिणामों से लिए गए हैं। वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही और वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के आंकड़े भी तुलना करने के लिए सारणियों में प्रस्तुत किए गए हैं। इन आंकड़ों को https://dbie.rbi.org.in/DBIE/dbie.rbi?site=statistics#!2_42 से प्राप्त किया जा सकता है।

मुख्य-मुख्य बातें

बिक्री

  • 2019-20 की तीसरी तिमाही में पेट्रोलियम, ऑटोमोबाइल और लौह और इस्पात कंपनियों के सांकेतिक बिक्री में संकुचन होने के कारण निर्माण क्षेत्र मांग स्थिति कमजोर पर गयी (तालिका 2क और तालिका 5क)।

  • खनन और बिजली क्षेत्रों की मांग में कमी देखी गई, जिसका मुख्य कारण उनकी बिक्री में निरंतर गिरावट रही (तालिका 5 ए)।

  • जहां आईटी क्षेत्र की बिक्री में सांकेतिक वृद्धि (वर्ष-दर-वर्ष) देखी गयी, वहीं गैर-आईटी सेवा क्षेत्र के लिए मंद बनी रही। स्थावर भू-संपदा कंपनियों के लिए सांकेतिक बिक्री तेजी से संकुचित हुई, लेकिन परिवहन और भंडारण सेवा कंपनियों (तालिका 2 क और तालिका 5 क) के लिए संवृद्धि दर्ज की गई।

व्यय

  • पण्य की कीमतों में सौम्यता और उत्पादन की कम मात्रा के कारण सम्पूर्ण उद्योगों के उत्पादन लागत (यानी, कच्चे माल की लागत) में संकुचन हुआ (तालिका 2 क)।

  • सम्पूर्ण क्षेत्रों में कर्मचारी लागत की वृद्धि में गिरावट आई, विशेष रूप से विनिर्माण क्षेत्र में चार तिमाहियों से गिरावट जारी है (तालिका 2 क) ।

परिचालन लाभ

  • विनिर्माण क्षेत्र के लिए परिचालन लाभ 6.2 प्रतिशत तक संकुचित हुआ, जिसका मुख्य कारण था उत्पादन में कमी (तालिका 2क) ।

  • 2019-20 की तीसरी तिमाही में सेवा कंपनियों (आईटी और गैर-आईटी) के परिचालन लाभ में संवृद्धि हुई (तालिका 2 क) ।

ब्याज

  • आंशिक रूप से लेखांकन मानदंडों के अनुसार इस शीर्ष के तहत पट्टे के भुगतान दायित्वों को शामिल करने के कारण विनिर्माण कंपनियों के ब्याज व्यय में मामूली वृद्धि हुई है जबकि गैर-आईटी सेवा कंपनियों के ब्याज व्यय में तेजी से वृद्धि हुई है (तालिका 2 क)।

  • कम लाभ के कारण विनिर्माण क्षेत्र का ब्याज कवरेज अनुपात (आईसीआर) पिछली तिमाही के 4.6 की तुलना में 4.31 तक मंद रहा; हालांकि, गैर-आईटी सेवा कंपनियों का आईसीआर कम रहा (तालिका 2 ख)

मूल्य निर्धारण क्षमता

  • निर्माण कंपनियों के लिए लाभ मार्जिन गिरा, लेकिन आईटी कंपनियों के लिए स्थिर रहा। गैर-आईटी सेवा कंपनियों ने दूरसंचार कंपनियों में भारी नुकसान के कारण नकारात्मक निवल लाभ मार्जिन दर्ज किया गया (तालिका 2 बी)।

सरणियों की सूची
तालिका सं. शीर्षक
1 सूचीबद्ध गैर सरकारी गैर वित्तीय कंपनियों का कार्यनिष्पादन वृद्धि दर
चयनित अनुपात
2 सूचीबद्ध गैर सरकारी गैर वित्तीय कंपनियों का कार्यनिष्पादन – क्षेत्रवार वृद्धि दर
चयनित अनुपात
3 चुकता पूंजी के आकार के अनुसार सूचीबद्ध गैर-सरकारी गैर-वित्तीय कंपनियों का कार्यनिष्पादन वृद्धि दर
चयनित अनुपात
4 बिक्री के आकार के अनुसार गैर सरकारी गैर वित्तीय कंपनियों का कार्यनिष्पादन वृद्धि दर
चयनित अनुपात
5 उद्योग के अनुसार सूचीबद्ध गैर सरकारी गैर वित्तीय कंपनियों का कार्यनिष्पादन वृद्धि दर
चयनित अनुपात
व्याख्यात्मक टिप्पणियाँ
शब्दावली

नोट:

  • विभिन्न तिमाहियों में परिणामों की घोषणा की तिथि के आधार पर कंपनियों का कवरेज़ भिन्न-भिन्न है, हालांकि समग्र स्थिति में ज्यादा परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

  • संकलन पद्धति पर विस्तृत व्याख्यात्मक टिप्पणियों और शब्दावली (संशोधित परिभाषा और परिकलन सहित जो पिछले प्रकाशनों से भिन्न हैं) संलग्न है।

अजीत प्रसाद
निदेशक  

प्रेस प्रकाशनी : 2019-2020/2087


1 The interest coverage ratio (ICR) is the ratio of earnings before interest and tax to interest expenses. It is a measure of a company’s debt servicing capacity. The minimum value for a viable ICR is 1.


2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष